राजस्थान पर्यटक गाइड

घोटिया अम्बा, बांसवारा

User Ratings:

बांसवारा से लगभग 35 किलोमीटर दूर खूबसूरत पहाड़ियों की गोद में, घोटिया अम्बा को महाभारत काल के दौरान पांडवों के छुपने का स्थान माना जाता था। घोटिया अम्बा को जिले के सभी पर्यटन स्थलों के बीच एक विशिष्ट महत्व मिला है। यहाँ के स्थानीय लोगो को पूर्ण विश्वास हैं कि आम का पेड़ (जिसे स्थानीय बोली में अंबा कहा जाता है) पांडवो द्वारा लगाया गया था जिसे घोटिया अम्बा का नाम दिया गया। हर साल हिंदू माह चैत्र में एक विशाल मेला लगाया जाता है जहां राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश के तीर्थयात्रियों में बड़ी संख्या में आते हैं।

इस स्थान के पास एक  केला पानी नामक स्थान है। केले का अर्थ केला और माना जाता है कि इस जगह पर पांडवो ने  केलों के पत्तो पर  ऋषियों और संतों को खाना खिलाया था। यह मंदिर और जगह राजस्थान सरकार के देवस्थान विभाग द्वारा देखी जाती है। इस के अतिरिक्त  बांसवाड़ा शहर के आसपास देखने और घुमने लायक कई  आकर्षित चीजें है। जुआ फ़ॉल, सिंगपुर झरना, रतलाम रोड पर प्रताप सेतु और धार्मिक स्थान जैसे मंगलेश्वर, भवनपुरा भैरवजी, सिधी विनायक, सूर्य मंदिर तलवाड़, अब्दुल्ला पीर दरगाह आदि भी बहुत प्रसिद्ध और महत्वपूर्ण है।

घोटिया अम्बा मंदिर

घोटिया अम्बा मंदिर

घोटिया अम्बा मंदिर, बांसवारा राजस्थान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *