राजस्थान पर्यटक गाइड

बुलेट बाबा मंदिर

User Ratings:

बुलेट बाबा मंदिर ने राजस्थान को धार्मिक विश्वास की भूमि के साथ ही चमत्कारिक भूमि के रूप में भी पुष्टि की है। जोधपुर के पास पाली जिले के चोटिला गांव में स्थित बुलेट बाबा मंदिर , मंदिर के साथ साथ एक स्मारक भी हैं। यहां एक रॉयल एनफील्ड बुलेट मोटरसाइकिल की पूजा की जाती है।

स्थानीय लोगों के अनुसार मंदिर के पीछे की कहानी यह है की  एक जवान युवक ओम सिंह (ओम बानजी या ओम बन्ना ) गाँव के सरपंच का बेटा थाजो 1991 में एक पेड़ से अपनी बुलेट मोटरसाइकिल टकराया था । दुर्घटना के बाद, मोटरसाइकिल को स्थानीय पुलिस ने जब्त कर लिया और पुलिस स्टेशन ले जाया गया। लेकिन सुबह मोटरसाइकिल दुर्घटना स्थान पर पाई गयी। पुलिस इसे फिर पुलिस थाने ले गयी और जंजीरों से बांध कर इसका ईंधन टैंक खाली कर दिया | लेकिन सब कुछ बेकार रहा पुलिस इस मोटरसाइकिल को दुर्घटना स्थल पर पर पहुचने तक नही रोक सकी |

जैसे ही अन्य गांवों में इसकी खबर फैली, लोग यहाँ इकठ्ठा होना शुरू हो गये और इसे एक स्मारक बना दिया गया – एक मंदिर जहां बुलेट मोटरसाइकिल पूजा करते है जो अब प्रसिद्ध बुलेट बाबा मंदिर के रूप में जाना जाता है। लोग मानते हैं कि ओम बन्ना परेशान राहगीरों की मदद करता था | और अब यात्री यहां रुककर बुलेट बाबा के आगे माथा टेकते है । वह पेड़ जहां दुर्घटना घटी, अब वहां चूड़ियां, दुप्पटे और रस्सी दी जाती है |

बुलेट बाबा, पाली राजस्थान तक कैसे पहुंचे

रोड से : बुलेट बाबा पाली शहर से 22 किमी की दूरी पर पाली और जोधपुर के बीच एनएच 65 पर स्थित है। एक आरएसआरटीसी बस या निजी टैक्सी द्वारा यहाँ आसानी से यहां पहुंचा सकता है।

रेल द्वारा : बुलेट बाबा निकटतम पाली रेलवे स्टेशन ( 20 किलोमीटर ) से बड़े शहरों के रेलवे स्टेशनों जैसे दिल्ली, आगरा, मुंबई, चेन्नई, पाली, पाली, जयपुर, अहमदाबाद से जुड़ा हुआ है।

हवाई यात्रा द्वारा : बुलेट बाबा निकटतम जोधपुर हवाई अड्डे ( 51 किलोमीटर ) से पहुंच सकते हैं जो  दिल्ली, मुंबई के नियमित डोमेस्टिक उड़ानों के साथ जुड़ा हुआ है।

बुलेट बाबा मंदिर के बारे में जाने

बुलेट बाबा मंदिर राजस्थान

बुलेट बाबा मंदिर राजस्थान

बुलेट बाबा मंदिर राजस्थान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *