राजस्थान पर्यटक गाइड

आवरी माता मंदिर, असावरा

User Ratings:

आवरी माता मंदिर, राजस्थान के लोकप्रिय मंदिरों में से एक है, जो चित्तौड़गढ़ के भदेसर कस्बे के पास असावरा गांव में स्थित है। यह मंदिर देवी आवरी माता को समर्पित है जो आसावरा गांव में स्थित है। मंदिर बड़े ही सुंदर रूप में पहाड़ियों और झरनों से बसा हुआ है। मंदिर के पास एक तालाब स्थित है,जिसे बहुत ही पवित्र मन जाता है और यहाँ भगवान हनुमान की एक सुंदर मूर्ति है। मंदिर में एक शांत और सुंदर पृष्ठपट है जो बहुत सुखदायक है जहाँ लोग भरी संख्या में यहां आते हैं।

मंदिर को एक सरल तरीके द्वारा बनाया गया है जैसे वास्तुकला में दो प्रवेश द्वार या दरवाजे हैं और छोटे टावरों द्वारा भी बनाया गया है। मंदिर की वास्तुकला प्राचीन हिंदू मंदिरों के समान है और वहां हिंदू देवताओं की सुंदर चित्रकारी और संरचनाएं भी हैं और मंदिर की मुख्य मूर्ति मध्य भाग में स्थित है। मूर्ति को सुंदर फूलो और सोने के गहने द्वारा सजाया गया है।

आवरी माता मंदिर का इतिहास

माना जाता है कि मंदिर में विशेष शक्तियां है जिससे लोगो को ठीक किया जाता हैं और भक्त इस मंदिर में खुद को कई बिमारियों से ठीक करने के लिए जाते हैं जो बहुत बड़ी हैं और कई वर्षों के से लाइलाज हैं। कई लोग अपने परिवारों के साथ यहाँ आते है और अपने परिवार जन के पूरी तरह ठीक होने तक यहाँ रुकते हैं और वहां जाकर मंदिर का और मंदिर के आस-पास का आनंद भी लेते हैं। मंदिर में तेल लेने का एक रिवाज है,जिसमें तेल को मंत्रो द्वारा और पवित्र रागों द्वारा शुद्ध किया जाता है और इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाता है, क्योंकि तेल प्रभावी जगहों पर इस्तेमाल किया जाता है जिससे रोगी ठीक हो जाता है। भक्त भी आवरी माता के दैनिक पवित्र आरती में शामिल होते हैं और आरती देखने के लिए बड़ी संख्या में भक्त वहां उपस्थित होते हैं। यहाँ नवरात्री और हनुमान जयंती जैसे अवसर को बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है।

आवरी माता मंदिर, राजस्थान

आवरी माता मंदिर, राजस्थान

आवरी माता मंदिर, असावरा राजस्थान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *